रेकी की दीक्षा : Reiki Attunement

reiki attunement

रेकी की  दीक्षा तीन या चार चरणों में होती हैं जिसमे तीसरे चरण को दो भागों में बांटा गया है |

  • लेवल एक
  • लेवल दो
  • देवेल तीन A और तीन B ( रेकी लेवल तीन और चार )

 

रेकी लेवल एक :

दीक्षा की संख्या – 4 (Number of Initiation )

इस दीक्षा में मास्टर रेकी की उर्जा से शिष्य का संयोग करता है | दीक्षा क्रिया से सहस्त्रार , आज्ञा , विशुद्ध , अनाहत और हाथ के चक्र में ब्लॉकेज को हटा कर के चैनल बनाता है जिससे ऊर्जा का प्रवाह चालु हो जाता है | इस स्तर पे पहले ही दिन से शिष्य अपनी चिकित्सा , पेड़ पौधों और जानवरों की चिकित्सा करने में सक्षम हो जाता है | इस स्तर में स्पर्श के द्वारा ही चिकित्सा कर सकता है दूर से नहीं | 21 दिनों तक खुद की शरीर के 24 भागों पे चिकित्सा करनी होती है जिससे वो ये समझ पाता है की ऊर्जा किस तरह काम कर रही है | शिष्य का आज्ञा चक्र और सक्रीय हो जाता है जिससे उसकी अंतर दृष्टि जागृत होने लगती है | दीक्षा के बाद रेकी जरूरत की हिसाब से हीलिंग करता है और इस दौरान प्रारंभिक सप्ताह में आपके अंदर बदलाव होंगे , शरीर के अंदर जमा कचरे का सफाया होगा , भावनात्मक और अध्यात्मिक स्तर पे भी बदलाव देखने के लिए मिलेंगे , इससे घबराने की जरूरत नहीं है | इस दौरान पानी बहुत ज्यादा पीना चाहिए ताकि जितने भी टॉक्सिक मटेरियल शरीर में हैं उनका सफाया हो सके | उर्जा का प्रवाह सही ढंग से होने के लिए शरीर , मन का शुद्ध होना बहुत जरूरी है और रेकी यही काम सबसे पहले करता है |

 

 

रेकी लेवल 2 :

दीक्षा की संख्या– 1 (Number of Initiation )

इस दीक्षा में आपको रेकी के उच्च स्तर के उर्जा से जोड़ा जाता है जिससे आपकी हीलिंग और ज्यादा शक्तिशाली हो जाती है | इसमें तीन सिंबल दिए जाते हैं | जिससे आप इमोशनल और समय और दूरी से परे जाकर हीलिंग करने में सक्षम हो जाते हैं | फिर आपको छु करके चिकित्सा करने की जरूरत नहीं , अगर कोई आदमी अमेरिका में भी है तो यहाँ से हीलिंग कर सकते हैं | दूसरी बात आप भूत काल और भविष्य काल में घटित कोई ऐसी घटना जिसे आप ठीक करना चाहते हैं उसे भी ऊर्जा दे सकते हैं | मतलब अगर किसी से आप मनमुटाव हो गया हो , या कोई ऐसी घटना कभी घटी हो जिससे आपकी वर्तमान जिंदगी प्रभावित हो तो उसे हीलिंग दे सकते हैं | अस्चर्य जनक रूप से आपका पुराने समय का मनमुटाव ख़त्म हो जाएगा और एक जो दुःख का वातावरण आपकी जिंदगी में था वो ख़त्म हो जाएगा | ऐसे ही अगर आप चाहते हैं की भविष्य में कोई घटना घटे तो आप वहां भी उर्जा भेज सकते है जिससे उस घटना के घटने की सम्भावना बहुत बढ़ जायेगी जैसे की इंटरव्यू में सिलेक्शन या कोई बिज़नस कॉन्ट्रैक्ट इत्यादि | ज्यादातर लोगों को इसके बाद दीक्षा की जरूरत नहीं पड़ती |

 

 

रेकी लेवल 3 A ( मास्टर डिग्री ):

जैसा की नाम से साफ़ है आपकी उर्जा इस दीक्षा के बाद मास्टर स्तर की हो जायेगी , इसमें आपको अत्यंत उच्च स्तर की उर्जा से जोड़ा जाएगा जिसके फ्रीक्वेंसी बहुत ज्यादा है | अपने हीलिंग में आश्चर्य जनक क्षमता आ जाएगी और रेकी आपके रोज मर्या जिंदगी का हिस्सा हो जाएगा | मास्टर डिग्री उन्ही को लेना चाहिए जिन्हें लगता है की उन्हें और आगे बढ़ना है और रेकी के लिए अपने जिंदगी का कुछ समय समर्पित करना है | इस दीक्षा में आपको मास्टर सिंबल मिलता है जिसकी क्षमता के बारे में कुछ भी कहना कम ही होगा क्यूंकि ये स्वयं इश्वर का ही रूप है | इसकी दीक्षा थोड़ी कठिन होती है और प्रक्रिया काफी लम्बी है इसीलिए आमने सामने देना उचित है |

 

 

रेकी 3 B ( ग्रैंड मास्टर )

इस में शिष्य को ये सिखाया जाता है की दुसरे को रेकी दीक्षा कैसे प्रदान करे |

 


 

Thanks and Regards ,

Onkar Kumar

Indore ( Madhya Pradesh)

Contact : 7583899088

onkar kumar
I am a software enginner in an MNC with deep interest in spiritual stuffs . I have knowledge of healing such as Reiki , Prana voilet healing , Crystal healing etc .
I am Reiki Grand master , love meditation and inspire everyone to experience peaceful and blissful life .
It would be awesome if you would share your knowledge and experience . Thank you .